lev vygotsky theory in hindi वाइगोत्स्की सामाजिक सिद्धान्त

लेव सिमकोविच वाइगोत्स्की (1896-1934) सोवियत रूस के एक मनोवैज्ञानिक थे। उन्होंने बालकों के सामाजिक विकास से सम्बन्धित एक सिद्धान्त का प्रतिपादन किया। vygotsky theory in hindi द्वारा प्रतिपादित इस संज्ञानात्मक विकास के सिद्धान्त को सामाजिक सांकृतिक सिद्धान्त के नाम से भी जाना जाता है।

Table of Contents

सामाजिक विकास

समाजिक विकास का शाब्दिक अर्थ होता है, समाज के अन्तर्गत रहकर विभिन्न पहलुओं को सीखना अर्थात् समूह के स्तर पर परम्पराओं एवं रीति-रिवाजों के अनुकूल स्वंय को ढालना, एकता, मेल-जोल तथा पारम्परिक सहयोग की भावना को आत्मसात करना। समाज के अन्तर्गत ही चरित्र निर्माण तथा जीवन से सम्बन्धित व्यावहारिक गुणों इत्यादि का विकास होता है।

बालकों के विकास की प्रथम पाठशाला परिवार को माना गया है, तत्पश्चात समाज को एक दूसरों के सम्पर्क में आने से समाजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। सामाजिक विकास के माध्यम से बालकों का जुड़ाव व्यापक हो जाता है। सम्बन्धों के दायरे में वृद्धि अर्थात् माता-पिता एवं भाई-बहन के अतिरिक्त दोस्तों से जुड़ना।

सामाजिक विकास के माध्यम से बालकों में सांस्कृतिक, धार्मिक तथा सामुदायिक इत्यादि भावनाएं उत्पन्न होती हैं। बालकों के मन में आत्म-सम्मान, स्वाभिमान तथा विचारधारा का जन्म होता है। बालक समाज के माध्यम से ही अपने आदर्श व्यक्तियों का चयन करता है तथा कुछ बनने की प्रेरणा उनसे लेता है ।

vygotsky theory in hindi सामाजिक-सांकृतिक सिद्धान्त

vygotsky theory in hindi का सामाजिक-सांकृतिक सिद्धान्त बालक के संज्ञानात्मक विकास पर आधारित है। इस सिद्धान्त के अनुसार, बालक का संज्ञानात्मक विकास एक अन्तर्वैयक्तिक सामाजिक परिस्थिति में सम्पन्न होता है। समाज में उसके लिए जैसी सुविधाएं उपलब्ध होंगी, उसका विकास भी वैसा ही होगा।

vygotsky theory in hindi निर्माणवाद पर आधारित एक सिद्धान्त है जो बालक को अपने वास्तविक विकास के स्तर से अलग सम्भाव्य विकास के स्तर की ओर ले जाने की कोशिश करता है। इन दोनों स्तरों के बीच के स्तर को वाइगोत्स्की ने निकट विकास का क्षेत्र (Zone of Proximal Development) कहा है

vygotsky theory in hindi ने बालक के संज्ञानात्मक विकास में भाषा और चिन्तन को भी महत्वपूर्ण साधन के रूप में माना है । छोटे बच्चों द्वारा भाषा का प्रयोग केवल सामाजिक संचार के लिए ही नहीं किया जाता अपितु अपने व्यवहार को नियोजित एवं निर्देषित करने के लिए भी किया जाता है।

बच्चों में भाषा और चिन्तन दोनों ही पहले स्वतंत्र रूप से विकसित होते हैं और बाद में आपस में मिल जाते हैं । निम्नलिखित के आधार पर हम कह सकते हैं कि बालक के संज्ञानात्मक विकास में संकृति एक महत्वपूर्ण कारक है । बालक का संज्ञानात्मक विकास अधिगम के द्वारा ही सम्भव है। बालक के संज्ञानात्मक विकास की व्याख्या एक अकेले अमूर्त सिद्धान्त के आधार पर नहीं की जा सकती  है।

बालक का संज्ञानात्मक विकास सामाजिक क्रियाओं के अन्त:करण के आधार पर होता है। निकट विकास का क्षेत्र (ZPD) मानसिक कार्यों पर आधारित है जो वास्तविक क्षमता स्तर तथा कार्यकारी क्षमता स्तर के मध्य के अन्तर से सम्बन्धित है।

vygotsky theory in hindi के सिद्धान्त में खेल की भूमिका

vygotsky theory in hindi का विश्वास था कि खेल संज्ञानात्मक, भावात्मक और सामाजिक विकास को बढ़ावा देता है । विकास में खेल के महत्व के बारे में वाइगोत्स्की का दृष्टिकोण समन्वयकारी था। वाइगोत्स्की का मानना था कि खेल बच्चों को अपने व्यवहार पर नियन्त्रण की क्षमता देने वाला मानसिक उपकरण है।

खेल में जो कल्पित स्थितियॉ खड़ी की जाती हैं वे बच्चे के व्यवहार को एक खास तरह से नियन्त्रित करने वाली और दिशा देने वाली प्रथम बाधाएं हैं। खेल व्यवहार को संगठित करता है। खेल विकास के संज्ञानात्मक और सामाजिक विकास के अलावा स्कूल सम्बन्धी कौषलों को भी लाभ पहॅुचाते हैं।

उदाहरण के लिए शाब्दिक अभिव्यक्ति, शब्द-भण्डार, समझ, अवधान की अवधि, कल्पनाशील, एकाग्रता, आवेश पर नियन्त्रण, जिज्ञासा, समस्या-समाधान की ओर अधिक युक्तियॉ, सहयोग, सहानुभूति और सामूहिक भागीदारी इनमें शामिल हैं। अधिगम की अन्य गतिविधियों की अपेक्षा खेल के दौरान बच्चों के मानसिक कौशल उच्चतर स्तर पर होते हैं।

vygotsky theory in hindi के अनुसार खेल विकास को तीन तरीके से प्रभावित करता है

  • खेल बच्चे के निकट विकास क्षेत्र का निर्माण करता है ।
  • खेल कार्यों और वस्तओं को विचार से अलग करने का काम करता है ।
  • खेल आत्मनियन्त्रण के विकास में सहायक होता है ।

vygotsky theory in hindi का समीपस्थ विकास का क्षेत्र

यह वाइगोत्स्की के सामाजिक सांकृतिक सिद्धान्त का एक भाग है । इसके अन्तर्गत वाइगोत्स्की ने एक सम्प्रत्यय दिया था, जिसका नाम था स्कैफोल्डिंग (सहारा देना) ।

स्कैफोल्डिंग (Scaffolding) का अर्थ होता है जब बच्चा किसी समस्या के समाधान के लिए किसी वयस्क या साथी के मार्गदर्शन की उपस्थिति में कार्य करता है तो वह प्रक्रिया स्कैफोल्डिंग कहलाती है या जब बच्चा किसी समस्या के समाधान का हल किसी की सहायता/ मार्गदर्शन में करता है तो वह प्रक्रिया ’सहारा देना’ कहलाती है।

वायगोत्स्की का सिद्धांत क्या है?

वाइगोत्स्की का सामाजिक-सांकृतिक सिद्धान्त बालक के संज्ञानात्मक विकास पर आधारित है। इस सिद्धान्त के अनुसार, बालक का संज्ञानात्मक विकास एक अन्तर्वैयक्तिक सामाजिक परिस्थिति में सम्पन्न होता है। समाज में उसके लिए जैसी सुविधाएं उपलब्ध होंगी, उसका विकास भी वैसा ही होगा ।

लेव वाइगोत्सकी के अनुसार सीखने का आधार क्या है?

लेव वाइगोत्सकी के अनुसार सीखने का आधार समाज है, समाज में उसके लिए जैसी सुविधाएं उपलब्ध होंगी, उसका विकास भी वैसा ही होगा ।

वायगोत्स्की के अनुसार ZPD क्या है?

बालक का संज्ञानात्मक विकास सामाजिक क्रियाओं के अन्त:करण के आधार पर होता है । निकट विकास का क्षेत्र (ZPD) मानसिक कार्यों पर आधारित है जो वास्तविक क्षमता स्तर तथा कार्यकारी क्षमता स्तर के मध्य के अन्तर से सम्बन्धित है।

सामाजिक विकास का सिद्धांत किसने दिया?

सामाजिक विकास का सिद्धांत वायगोत्स्की ने दिया।

lev vygotsky theory in hindi Mcq

Q.1-लेव वाईगोत्स्की का सामाजिक-सांस्कतिक परिप्रेक्ष्य, अधिगम प्रक्रिया में…….के महत्व पर जोर देता है

  1. अभिप्रेरणा
  2. सन्तुलीकरण
  3. सांस्कृतिक उपकरणों
  4. गुणारोपण

Q.2-जिग-सॉ पहेली को करते समय 5 Year की नज्मा स्वयं से कहती है, “नीला टुकड़ा कहॉ है? नहीं, यह वाला नहीं, गाढ़ं रंग वाला जिससे यह जूता पूरा बन जाएगा।“ इस प्रकार की वार्ता को वाइगोत्स्की किस तरह सम्बोधित करते हैं?

  1. व्यक्तिगत वार्ता
  2. जोर से बोलना
  3. पाड़(ढॉचा)
  4. आत्मकेन्द्रित वार्ता

Q.3- बच्चों को संकेत देना तथा आवष्यकता पड़ने पर सहयोग प्रदान करना, निम्नलिखित में से किसका उदाहरण है?

  1. प्रबलन
  2. अनुबन्धन
  3. मॉडलिंग
  4. पाड़(ढॉचा)

Q.4- निम्नलिखित में से कौन-सा द्वितीयक समाजीकरण एजेन्सी का उदाहरण है?

  1. परिवार एवं पास-पड़ोस
  2. परिवार एवं मीडिया
  3. विद्यालय एवं मीडिया
  4. मीडिया एवं पास-पड़ोस

Q.5- vygotsky theory in hindi के अनुसार, अधिगम

1. एक अनुबन्धित गतिविधि है
2. एक सामाजिक गतिविधि है
3. एक व्यक्तिगत गतिविधि है
4. एक निष्क्रिय गतिविधि है

Q.6- ……….के अलावा, निम्नलिखित कारणों से खेल युवा बच्चों के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ।

  1. वे नए कौशल हासिल करते हैं और सीखते है कि उन्हें कब उपयोग किया जाए
  2. वे अपने शरीर पर निपुणता प्राप्त करते हैं
  3. यह उनकी इन्द्रियों को उत्तेजित करता है
  4. यह समय बिताने का एक सुखद तरीका है

Q.7- vygotsky theory in hindi के अनुसार, संज्ञानात्मक विकास का मूल कारण है

1.सामाजिक अन्योन्यक्रिया

2.मानसिक प्रारूपों (स्कीमा) का समायोजन

3.उद्दीपक-अनुक्रिया युग्मन

4.सन्तुलन

Leave a comment